Banner DAREMega Seed on RiceFood from Water- Aquaculture Pond in OdishaMigrating Sheep flocksBlack Pepper

भारत के माननीय राष्ट्रपति का जेएनकेवीवी में दीक्षांत संभाषण

जेएनकेवीवी, जबलपुर में स्वर्ण जयंती दीक्षांत समारोह

27th जून 2014, जबलपुर

Shri Pranab Mukherjee, Hon'ble President of Indiaजवाहरलाल नेहरू कृषि विश्वविद्यालय (जेएनकेवीवी), जबलपुर में विश्वविद्यालय के स्वर्ण जयंती वर्ष पर 12वें दीक्षांत समारोह का आयोजन 27 जून, 2014 को माननीय राष्ट्रपति श्री प्रणब मुखर्जी की गरिमामयी उपस्थिति में किया गया।

श्री प्रणब मुखर्जी ने मुख्य अतिथि के रूप में दीक्षांत संभाषण में विश्वविद्यालय को दलहन, तिलहन, सोयाबीन, चना और बीजों के क्षेत्र में नये कीर्तिमान स्थापित करने पर बधाई दी। उन्होंने मध्य प्रदेश के कृषि विकास की प्रशंसा करते हुए कहा कि कृषि में 1 प्रतिशत की विकास दर अन्य क्षेत्रों में 2-3 प्रतिशत विकास दर के समान है।

श्री राम नरेश यादव, माननीय राज्यपाल, मध्य प्रदेश और विश्वविद्यालय के कुलाधिपति ने टिकाऊ, विविधतापूर्ण और कृषि की सम्पूर्ण क्षमताओं के प्रयोग के लिये निपुण मानव संसाधनों के विकास और प्रबंध पर जोर दिया ताकि कृषि को लाभप्रद व्यवसाय बनाया जा सके।

Hon'ble President of India Delivered the Convocation Address at JNKVV

श्री शिवराज सिंह चौहान, मुख्यमंत्री, मध्य प्रदेश ने कृषि एवं संबद्ध क्षेत्रों में प्रौद्योगिकी विकास और नवोन्मेष के लिये कृषि विश्वविद्यालय के प्रयासों की सराहना की। उन्होंने बताया कि प्रदेश में कृषि की ताजा विकास दर ने 24.99 प्रतिशत का आंकड़ा छू लिया है। उन्होंने बताया कि मध्य प्रदेश को कृषि में उल्लेखनीय विकास के लिये लगातार दो वर्षों तक कृषि कर्मण पुरस्कार दिया गया है।

Hon'ble President of India Delivered the Convocation Address at JNKVVHon'ble President of India Delivered the Convocation Address at JNKVVHon'ble President of India Delivered the Convocation Address at JNKVV

इस अवसर पर भारत रत्न डॉ. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम, भारत के पूर्व राष्ट्रपति और पद्म विभूषण डॉ. एम.एस. स्वामीनाथन, पूर्व महानिदेशक, भा.कृ.अनु.प. को डॉक्टर ऑफ साइंस की मानद उपाधि से सम्मानित किया गया।

इससे पूर्व, प्रो. विजय सिंह तोमर, कुलपति, जेएनकेवीवी, जबलपुर ने मुख्य अतिथि और अन्य गणमान्यों का स्वागत किया तथा विश्वविद्यालय की गतिविधियों के बारे में संक्षिप्त जानकारी दी।

इस दीक्षांत समारोह में 643 स्नातक, 489 स्नातकोत्तर और 21 डॉक्टरेट डिग्रियां एवं 22 स्वर्ण पदक प्रदान किये गये।

श्री राजेश पालीवाल, रजिस्ट्रार ने धन्यवाद ज्ञापित किया।

(स्रोतः जेएनकेवीवी, जबलपुर) (हिन्दी प्रस्तुतिः एनएआईपी मास मीडिया परियोजना, डीकेएमए, आईसीएआर)